इसकी पत्ती खा लो मलेरिया कभी नहीं होगी, मलेरिया के लक्षण, बचाव और घरेलू उपाय

 

इस पेड़ की पत्ती खा लो मलेरिया कभी नहीं होगी।  मलेरिया के लक्षण, बचाव और घरेलू उपाय

 

मलेरिया के लक्षण, बचाव और घरेलू उपाय, moskito photo

 

नमस्कार दोस्तों आज हम इस पोस्ट में आपको बताएंगे कि मलेरिया से कैसे छुटकारा पाया जा सकता है अगर आप ऐसी जगह पर रह रहे हैं जहां पर बहुत सारे मच्छर हैं और आपको बार-बार मच्छर काट लेते हैं जिससे आपको मलेरिया (malaria) हो जाती है और उस मलेरिया से छुटकारा पाने के लिए आप बार-बार एलोपैथिक दवाइयों का इस्तेमाल करते हैं जिसका साइड इफेक्ट बहुत है तो अब आप चिंता मुक्त हो जाइए। हम आपको एक ऐसी आयुर्वेदिक औषधि के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपके अड़ोस पड़ोस में ही मौजूद है और उसके सेवन से आपको चाहे जितना मच्छर काटे फिर मलेरिया नहीं होगी। और इसके सिवा उस आयुर्वेदिक औषधि को तैयार करने की विधि भी आपको हम बताएंगे।

 

आप सभी मित्रों से निवेदन है अगर आप मलेरिया से छुटकारा पाना चाहते हो एलोपैथिक दवा के साइड इफेक्ट से बचना चाहते हो कृपया आप पूरा पोस्ट जरूर पढ़ें। और अपने मित्रों को शेयर अवश्य करें। इस आयुर्वेदिक दवा का कोई भी साइड इफेक्ट नहीं है इसलिए आप इसका एक बार सेवन अवश्य करें। इसके आपका आपको पता चल जाएगा। मैं इसके फायदे से भलीभांति अवगत हूं। 

 

मलेरिया के लक्षण (Malaria Symptoms In Hindi)

 

• मलेरिया होने पर ठंड लगकर बुखार का आना

• मलेरिया होने पर उल्टी का और जी मचलना

Parliament Hill

• मलेरिया होने पर सिर का दर्द करना

• मलेरिया होने पर अत्यधिक पसीना आना

• मलेरिया होने पर मांसपेशियों में दर्द होना

• मलेरिया होने पर चक्कर आना

• मलेरिया होने पर सर्दी जुखाम होना

• मलेरिया होने पर दस्त होना

• मलेरिया होने पर भूख का ना लगना

• मलेरिया होने पर सांस का फूलना

 

मलेरिया से बचाव ( Prevention Of Malaria In Hindi )

 

आयुर्वेद के अनुसार मलेरिया की आयुर्वेदिक औषधि नीम है। अगर आप ऐसी जगह पर रह रहे हैं जहां पर बहुत सारे मच्छर हैं और आपको बार-बार मच्छर काटते हैं और आपको बार-बार मलेरिया हो जाता है और आप एलोपैथिक दवाइयों का सेवन करते हैं जिसका साइड इफेक्ट बहुत अधिक है। तो अब आप इससे चिंता मुक्त हो जाइए हम आपको आयुर्वेद के अनुसार ऐसी औषधि बताने जा रहे हैं जिसका सेवन करने से आप पूरे साल मलेरिया की बीमारी से मुक्त रह सकते हैं। और इसके साथ साथ छोटी मोटी बहुत सारी बीमारियां भी दूर हो जाएंगी जैसे:- खून की खराबी, त्वचा रोग, लीवर के कीटाणु, मुंह की दुर्गंध, माइग्रेन समस्या, शरीर में गर्मी और भूख न लगना इसके सिवा स्वप्नदोष जैसी बीमारियां भी नष्ट हो जाएंगी।

 

मलेरिया से बचने के घरेलू उपाय ( Home Remedies Of Malaria In Hindi )

 

आयुर्वेद में नीम को बहुत महत्व दिया गया है नीम का वृक्ष लगभग पूरे भारतवर्ष में और भारत के पड़ोसी देशों में बहुत आसानी से देखने को मिल जाएगा। इसकी पत्तियों का सेवन करने से मलेरिया जैसे रोग कभी नहीं होते। आप मार्च महीने से लेकर अगस्त, सितंबर तक अगर इनकी हरी पत्तियों का सेवन कर सकते हो रोज तोड़कर बासी मुंह कूच कर एक लोटा पानी के साथ लेने से यह बीमारी लगभग डेढ़ साल आपको नहीं आएगी। साल में तीन महीना सेवन करने पर यह डेढ़ साल तक आपकी खुनो में इसकी शक्ति बनी रहती है। जिससे मलेरिया और छोटे-मोटे रोग शरीर में नहीं पनपते। इसके सिवा अगर आप हरी पत्ती नहीं ले सकते हो तो इसका सेवन पति को लाकर धोकर धूप में सुखा लो और उसका चूर्ण बना लो चुड बनाकर या पाउडर बनाकर किसी डिब्बे में भरकर रख लें और लगभग एक बड़ा चम्मच पानी के साथ में सेवन करें। इसके सिवा आप नीम की हरी पत्तियों को पीसकर गोली बनाकर सुखा लें और रोज एक गोली लगभग 10,12 पत्तियों की होनी चाहिए ऐसा गोली बना ले और उसका सेवन करें लगभग तीन चार महीना सेवन करने से आप इस बीमारी से मुक्त रह सकते हैं और आपको कितना भी मच्छर काटे आपको फिर मलेरिया नहीं होगी इसका मेरा अनुभव है। क्योंकि हमारे चाचा हैं जो ऐसी जगह पर रहते थे और उन्हें बार-बार मलेरिया की बीमारी का सामना करना पड़ता था जिससे वह एलोपैथिक दवा का सेवन करते थे और उनके शरीर में बहुत सारी परेशानी बढ़ गई इसके कारण वह एक वैैध से मिलने की सूची तो वह हमारे गांव में वेद जी से मिलने गए वैध जी ने उन्हें बताया कि तुम नीम की पत्ती का सेवन करो जिससे तुम्हें यह बीमारी कभी नहीं परेशान कर पाएगी। वेद की सलाह पर उन्होंने ढेर सारी नीम की पत्तियों को तोड़ वाकर धूप में सुखाकर पाउडर बनाकर एक बड़े से डिब्बे में रखवा लिया और लेकर चले गए। और उसका सेवन करने लगे जब से उनका मानना है आज तक हमें किसी भी प्रकार की कोई बीमारी नहीं हुई मलेरिया तो दूर की बात है।

 

नीम की पत्तियों के फायदे (neem leaf powder)

नीम की पत्तियों के फायदे, neem leaf powder

तो दोस्तों अगर आप भी चाहो तो इसका सेवन कर मलेरिया जैसे रोगों से बचाव कर सकते हैं इसके सिवा अगर आपके शहर में नीम का पेड़ नहीं है और आप नीम की पत्ती का सेवन करना चाहते हो ऐसी कई कंपनियां है जोकि नीम की पत्ती का पाउडर (organic neem powder) बनाकर मार्केट में भेजती है। आप चाहे तो वहां से खरीद सकते हैं। मैं इसका लिंक यहां दे रही हूं लिंक पर टच कर आप उनके प्रोडक्ट पर पहुंचकर खरीद सकते हो और वह अपना प्रोडक्ट बहुत कम प्राइस में भी रखे हुए हैं। खरीदने के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें:–

नीम की पत्ती का पाउडर खरीदने के लिए क्लिक करें।

 

और अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई हो तो हमारी पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक शेयर करें इसके सिवा अगर आप मलेरिया से परेशान हैं एक बार नीम की पत्ती का सेवन अवश्य करें जिससे आपको इसके फायदे का पता चल जाएगा क्योंकि यह मेरे जीवन का देखा हुआ अनुभव है इसके सिवा अगर आपके पास और भी कोई बीमारी है जिसका आप आयुर्वेदिक इलाज जानना चाहते हैं तो हमारी कमेंट बॉक्स में कमेंट करें ताकि हम आपके बीमारी का आयुर्वेदिक उपचार आयुर्वेद के रूप में दूसरा पोस्ट बनाकर आपको बता सके।

 

और आप सभी मित्रों से निवेदन है पोस्ट पसंद आने पर आप अपने करीबी मित्रों के पास में अवश्य शेयर करें। और आपको पोस्ट कैसी लगी इसका सुझाव अवश्य दें।

 

आपका हमारी पोस्ट पर आने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद।

 

Jyotiswapan.com

Leave a Comment