neem tree in hindi, जानिए नीम के पौधे से कई प्रकार की बीमारियां दूर हो सकती हैं।

neem tree in hindi



neem tree in hindi :- नीम के पौधे के विशेष लाभ


नीम एक बहुत उपयोगी वृक्ष है इसकी जड़ से लेकर फूल पत्ती और फल तक सभी औषधीय गुणों से भरे हुए हैं। भारतवर्ष के गरीब लोगों के लिए या कल्पवृक्ष है आइए हम इसके गुणों को देखकर उनसे लाभ उठाएं।


नीम का जड़

नीम की जड़ को पानी में उबालकर पीने से बुखार दूर हो जाता है।


नीम की छाल

नीम की बारी छाल पानी में घिसकर फोड़े फुंसियों पर लगाने से वे बहुत जल्दी ठीक हो जाते है। नीम की बाहरी छाल को जलाकर उसकी राख में तुलसी के पत्तों का रस मिलाकर लगाने से दाद तथा अन्य चर्म रोग ठीक हो जाते हैं।


नीम का दातुन

प्रतिदिन नीम की दातुन करने से मुंह की बदबू दूर हो जाती है और दांत मसूड़े मजबूत हो जाते हैं। पायरिया, मसूड़ों से खून आना तथा मसूड़े की सूजन के उपचार के लिए दातुन बहुत ही ज्यादा उपयोगी हैं।

नीम की पत्तियां

नीम की पत्तियां चैत्र मास में नीम की कोमल नमी को सुबह पेड़ से तोड़कर चबाकर खाने से रक्त शुद्ध होते हैं और फोड़ा फुंसी नहीं निकलते तथा मलेरिया जैसी बीमारी भी नहीं होती है।


पत्तियों के अन्य उपयोग


नीम की पत्तियों को संचित अनाज में मिलाकर रखने से उन्हें खून पी ली तथा कपड़ा आदि कीड़े नहीं लगते हैं। गर्म और सिल्क के कपड़ों में गर्म रेशमी कालीन कंबल पुस्तक आदि को कीड़ों से बचाने के लिए इनमें नीम की पत्तियां रखनी चाहिए। 


नीम के फूल

नीम के फूल तथा न्यू बोलियां खाने से पेट के रोग नहीं होते फूलों को चबाकर काजल के रूप में उपयोग में लाया जाता है।

नहीं बोलिए नीम का एक फल होता है इससे तेल भी निकाला जाता है यह भी कई प्रकार की बीमारियों को दूर करने के लिए उपयोग में लाया जाता है। रोगाणुओं को मार डालने में नीम की निंबोली आ बहुत ही ज्यादा सक्षम है।

आग से जले घाव को नीम की निंबोली ओं को पीसकर या फिर नीम का तेल लगाने से घाव शीघ्र ही भर जाता है।


Leave a Comment